Knowledge Centre

अपनी बाइक का माइलेज कैसे बढ़ाएं

आजकल बाइक चलाना युवाओं के लिए जज़्बा बन चुका है. ज़्यादातर युवा पीढ़ी के लोग मज़े और रोमांच के लिए बाइक चलाना चाहते हैं.

लोग बाइक चलाना क्यों पसंद करते हैं?

कार में सफर करते समय युवा पीढ़ी को यही लगता है कि उन्हें किसी पिंजरे में क़ैद कर दिया गया है. अन्य अधेड़ उम्र के लोग बाइक चलाना इसीलिए पसंद करते हैं क्यूंकि बाइक चलाने में पेट्रोल की तो बचत होती ही है साथ ही कार की तुलना में बाइक पार्क करने की जगह ज़्यादा आसानी से मिल जाती है. बाइक चलाने वाले बहुत सारे लोगों का मानना यह है कि बाइक चलाने से उनका तनाव कम होता है और उनका मानसिक स्वास्थ्य भी सही रहता है. बाइक लम्बे समय तक अच्छे ढंग से चल सकती है और कार की तुलना में बाइक से पर्यावरण को बहुत कम नुक्सान होता है.

बाइक चुनते समय माइलेज देखना क्यों है ज़रूरी?

किसी भी बाइक की ईंधन दक्षता का मतलब ही उसका माइलेज होता है. यानी कि पेट्रोल की एक यूनिट में आपकी बाइक कितनी दूरी तय कर सकती है यह उसके माइलेज पर निर्भर करता है. बाइक खरीदते समय बाइक का माइलेज देखना सबसे ज़्यादा ज़रूरी होता है. जिस तरह से पेट्रोल-डीज़ल की कीमतें बढ़ रहे हैं, बाइक चुनते समय आपको यह ज़रूर देखना चाहिए कि एक लीटर पेट्रोल में आपकी बाइक कितनी दूरी तय कर सकती है. आपको हमेशा इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि शहर में इस्तेमाल होने वाली बाइक का माइलेज हाइवे पर चलने वाली बाइक के माइलेज से अलग ही होगा. अगर आपकी बाइक का माइलेज अच्छा है तो आपको पेट्रोल पर कम पैसे खर्च करने पड़ेंगे.

माइलेज से ड्राइवर को क्या लाभ होता है?

बाइक के माइलेज का सीधा असर ड्राइवर के खर्चों पर होता है. अगर किसी की बाइक का माइलेज बहुत अच्छा है तो इसका यही अर्थ है कि उसके बाइक की ईंधन दक्षता भी अच्छी है. अच्छे माइलेज वाली बाइक कम पेट्रोल में ज़्यादा दूरी तय करेगी और इससे ड्राइवर को यही लाभ होगा कि उसे ईंधन के लिए कम पैसे खर्च करने पड़ेंगे.

इसके साथ ही अगर बाइक का माइलेज अच्छा है तो ड्राइवर को  पेट्रोल डलवाने के लिए बार-बार पेट्रोल पम्प जाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी. इससे ड्राइवर के लिए बाइक चलाना भी आसान होगा और उसका समय भी बचेगा.

बाइक की सुरक्षा और बीमा

सड़क दुर्घटनाओं की संख्या बहुत तेज़ी से बढ़ रही है, इसलिए सड़क पर बाइक चलाते समय आपको कुछ ज़रूरी सावधानी बरतनी चाहिए. अपनी नयी बाइक को सड़क पर चलाने से पहले बाइक के लिए दो-पहिया वाहन बीमा पॉलिसी करवाना बहुत ज़रूरी होता है. अगर किसी भी प्राकृतिक तरीके से या इंसानी गलती से आपकी बाइक को किसी भी तरह का नुक्सान होता है तो दो पहिया वाहन बीमा पॉलिसी ही बाइक की मरम्मत का खर्च उठाएगी. दो पहिया वाहन के लिए थर्ड पार्टी बीमा पॉलिसी भी बहुत ज़रूरी होती है और अपने दो पहिया वाहन को अतिरिक्त सुरक्षा देने के लिए आप व्यापक बीमा पॉलिसी भी खरीद सकते हैं.

दो पहिया वाहन का बीमा करवाने के साथ-साथ आपको बाइक चलाते समय इन ज़रूरी बातों का भी ध्यान रखना होगा जैसे बाइक चलते हुए हेलमट लगाना, बाइक की अच्छी देखभाल करना और बाइक चलाते समय फ़ोन का इस्तेमाल नहीं करना.

निष्कर्ष: ऊपर दी गयी बातों से यह पता चलता है कि आपकी सुविधा और आपके बजट के लिए आपकी बाइक का माइलेज बहुत मायने रखता है .अपनी बाइक का माइलेज आसानी से बढ़ाने के लिए आपको बाइक की नियमित रूप से मरम्मत करवानी चाहिए ,अच्छी गुणवत्ता वाले ईंधन का इस्तेमाल करना चाहिए ,टायर की हवा नियामत रूप से चेक करते रहना चाहिए ,सीधे सूरज की रौशनी में बाइक खड़ी नहीं करनी चाहिए ,और बाइके और नियामत रूप से साफ़ करना चाहिए एवं इसके पुर्जों में तेल लगाना चाहिए .


Awards & Recognition