Knowledge Centre

हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने से पहलेे इन बातों का ध्यान रखें

आजकल की भागदौड़ भरी लाइफ स्टाइल आम आदमी की जिंदगी मे तनाव पैदा करती है जिसके कारण उसे बीमारियाँ आसानी से जकड़ लेती हैं। बीमारियों की वजह से उनकी आर्थिक स्थिति प्रभावित हो जाती  है  और अचानक आई इस परेशानी का समझदारी पूर्वक हल करने के लिये हेल्थ इंश्योरेंस बहुत जरुरी है। अगर आपके पास मेडिक्लैम पॉलिसी है तो आपको बीमारी से जुड़े खर्चों की चिंता करने की कोई जरुरत नहीं है। आइये जानते हैं हेल्थ इंश्योरेंस खरीदते समय हमें किन किन बातों का ध्यान रखना जरूरी होता है ताकि हम ली गई पालिसी का सम्पूर्ण लाभ प्राप्त कर सकें।

सबसे पहले यह जान लें कि-

1)स्वास्थ बीमा के मामले मे आपकी जरुरत क्या है?

आपके परिवार की जरूरत के अनुसार आपका  हेल्थ  इन्स्योरेन्स  प्लॉन निर्धारित होना चाहिए। प्रीमियम की रकम, परिवार के सदस्यों की संख्या और उनकी उम्र पर आधारित होती है।

 

2)कैशलेश नेटवर्क

यह अच्छी तरह जांच लें कि आप जो इंश्योरेंस प्लॉन खरीद रहे हैं उसके कैशलेश अस्पतालों की सूची में आपका निकटतम  और सुविधाजनक अस्पताल शामिल है या नहीं।

 

3)वेटिंग पीरियड

इंश्योरेंस पॉलिसी में बीमारियों के इलाज के लिए वेटिंग पीरियड होता है। उस अवधि के दौरान इंश्योरेंस कंपनी, इंश्योरेंस के किसी भी क्लेम का भुगतान करने के लिए जिम्मेदार नहीं होती है। यह अवधि आम तौर पर पॉलिसी खरीदने के दिन से 30 दिन तक रहती है। इसलिये यह जरूर जान लें कि आपकी पॉलिसी का वेटिंग पीरियड क्या है। 

 

4)प्री-एग्जिस्टिंग डिजीज

आम तौर पर, हेल्थ इंश्योरेंस प्लॉन , पॉलिसी धारक की उम्र और पॉलिसी के नियम  के आधार पर, पहले से मौजूद बीमारियों  को कवर नहीं करती हैं।

 

5)फ्री लुक पीरियड का फायदा उठाएं

पॉलिसी लेने से पहले क्लेम के क्लॉज पढ़ लें,अपने इंश्योरेंस आवेदन फॉर्म को सही-सही भरना न भूलें। अपनी उम्र और सेहत से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी सही-सही भरें, क्योंकि ऐसा न करने पर इंश्योरेंस क्लेम करने के दौरान आपका क्लेम अस्वीकार भी किया जा सकता है और आपकी पॉलिसी को कैंसल भी किया जा सकता है। यदि किसी कारण से आप अपनी पॉलिसी से संतुष्ट नहीं हैं तो आप 15 दिन की फ्री लुक पीरियड का इस्तेमाल करके पॉलिसी वापस करके अपना पैसा वापस भी ले सकते हैं। 

 


Awards & Recognition