Knowledge Centre
contact-bannercontact-banner
 

महत्वपूर्ण बीमारी बीमा और सामान्य स्वास्थ्य बीमा के बीच अंतर

आज बाजार में विभिन्न प्रकार के बीमा पॉलिसियों के उपलब्ध होने से एक साधारण व्यक्ति उनका चुनाव करने में भ्रमित हो सकता है। अगर आपये सोचते हैकी साधारण बीमा आपको भविष्य में होने वाली किसी भी गंभीर बीमारीसे कवर प्रदान करेगी तो आप गलत है। आईये जानते है कैसे :

गंभीर बीमारी बीमा आम बीमा आपके इलाज के खर्चे का और अस्पताल में भर्ती होने पर जो व्यय होता है उसका वहन करते है। परन्तु गंभीरबीमारी बीमा गंभीर बीमारियों का खर्च का वहन करतीहै।

कुछ बीमारियां जो गंभीर बिमारी बीमा केअंतर्गत आती है वो है :

1. पैरालिसिस

2. हार्ट अटैक

3. कोरोनरी आर्टरी बायपास सर्जरी

4. मल्टीप्ल स्क्लेरोसिस

5. मेजर ऑर्गन ट्रांसप्लांट

6. स्ट्रोक

7. कैंसर

उपरोक्त लिखे गए बीमारियों में से किसी एक के भी लक्षण पाए जाने की स्थिति मेंगंभीर बीमारी बीमा आपको एक तय रकम का भुगतान करती है। इस रकम का इस्तेमाल आप क़र्ज़ चुकाने में , इलाज के खर्च में , अपनी कमाई की भरपाई करने में या अपने रहन-सहन की स्थिति सुधारने में कर सकते है।

प्रीमियम राशि कोई भी साधारण स्वास्थ्य बीमा इसीलिए महंगी होती है क्यूंकि वो कवर करती है विभिन्न बीमारियों के उपचार को और इसीलिए उनकीप्रीमियम राशि भी काफी महंगी होती है। वही दूसरी ओर " सर्वोत्तम मेडिकल इन्शुरन्स फॉर क्रिटिकल इलनेस " कवर करती है कुछ ही बीमारियों को इसीलिए इसकी प्रीमियम राशि काफी कम होती है। अगर आप किसी भी विशेष प्रकार की बीमारी से ग्रसित है तो आपको सम्पूर्ण राशि का भुगतान मिलेगा। हालाँकि यह क्लेम आप केवल एक ही बार कर सकते है और इस तरह आप कम प्रीमियम में भी गंभीर बीमारी से सुरक्षा पा सकते है।

इन्शुरन्स कवरेज एक आम हेल्थ इन्शुअरन्स कवर करता है अस्पताल में भर्ती होने के खर्च जो किसी भी बीमारी या दुर्घटना की वजह से हुआ हो। इतना ही नहीं यह भरपाई करता है अस्पताल में भर्ती होने से पूर्व या उसके बाद के खर्चों का, अस्पताल से आने के पश्चात अगर किसी भी प्रकार के अन्य खर्च सामने आते है तो ये उनकी भरपाई भी करता है। वही गंभीर बीमारी समस्या किन्ही-किन्ही समस्याओं या बीमारियों पे कवर प्रदान करती है। ये उन सारे समस्याओं पर कवर देती है जिन पे आम बीमा पॉलिसियां कवर देने में असक्षम है। इस रकम का इस्तेमाल रोगीइलाज के खर्च में ,क़र्ज़ चुकाने में , अपनी कमाई की भरपाई करने में या अपने रहन-सहन की स्थिति सुधारने में कर सकते है। अगर उपचार के बाद जीवनशैली में विशेष सुधार करने हेतु पैसे की आवश्यकता होती है तो उसे भी ये पूरा करती है।

जब आप भारत में गंभीर बीमारी बीमा खरीदते है , तो विभिन्न प्रकार की बातों को मद्देनज़र रखना काफी आवश्यक जाता है।

वेटिंग पीरियड हर बीमा कंपनी का अलग अलग वेटिंग पीरियड होता है।एच.डी.एफ.सी एर्गो एक ऐसी बीमा कंपनी है जिसमे आपका वेटिंग पीरियड महज 90 दिन का ही होता है। 90 दिन पुरे होने पश्चात आप अपने पॉलिसी का क्लेम कर सकते है।

निश्चित राशि ये महत्वपूर्ण बात है जिसको लोग बीमा लेने से पूर्व भूल जाते है। बढ़ती हुई महंगाई को मद्देनज़र रखते हुए राशि को निश्चित करना चाहिए क्यूंकि बढ़ती हुई महंगाई के साथ साथ गंभीर बीमारियों के उपचार में भी बढ़त हुई है।

कवर की जा रही बीमारियों की संख्या जब आप गंभीर बीमारी बीमा लेते है तो उनका कम प्रीमियम होना उन्हें एक सुलभ विकल्प बनाता है परन्तु लेने से पहले यह जरूर जाँच ले की यह बीमा कितनी सारी बीमारियों को कवर देता है।


Awards & Recognition