Knowledge Centre

सर्दी के मौसम में ली जाने वाली 5 सावधानियां

सर्दी के मौसम की सूचना मिलते ही, हम सब कड़ाके की पड़ने वाली ठंड और कोहरे के लिए तैयार होना शुरू कर देते हैं। यही वह समय होता है जब हम अपनी ड्राई स्किन और रोज़ होने वाले फ्लू   से भी परेशान होते हैं और इसी कारण मेहनत से बनाई छुट्टियों की योजना भी धराशायी हो जाती है। यही कारण है कि सर्दियों के मौसम में अधिकतर डॉक्टर क्लीनिक और अस्पताल में सर्दी और खांसी से परेशान मरीजों की संख्या अधिक होती है। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि आप स्वयं को सर्दी के मौसम में पूरे समय स्वस्थ एवं सुरक्षित  रखें। हालांकि यह काम थोड़ा कठिन अवश्य है, लेकिन फिर भी कुछ तरीके ऐसे हैं जिनकी मदद से आप सामान्य रूप से होने वाली बीमारियों को अपने परिवार से दूर रख सकते हैं।

सामान्य सर्दी

सर्दी के मौसम में आप देखेंगे कि आपके आस पास घर हो या दफ्तर, हर जगह सर्दी और खांसी से परेशान व्यक्ति मिल ही जाएँगे। हालांकि सामान्य रूप से होने वाली सर्दी से कोई विशेष परेशानी नहीं होती है लेकिन यदि इसका समय पर उपचार न किया जाये तब यह तेज़ सिरदर्द, खराब गले, बलगम जमा होना और नाक के इन्फेक्शन में बदल सकती है। इसलिए सामान्य रूप से होने वाली सर्दी से बचाव के लिए अच्छा होगा कि भली-प्रकार से जरूरत के अनुसार गरम कपड़े पहने जाएँ और जहां तक हो सके घरेलू उपचार जैसे गर्म पानी के गरारे करना, गरम पानी की भाप लेकर भी सर्दी और खांसी को दूर कर सकते हैं।

निमोनिया

निमोनिया की बीमारी का सबसे पहला लक्षण ठंड लगना हो सकता है और यदि इसका उपचार न किया जाये तो यह नुकसानदेह भी हो सकता है। यह बैक्टीरिया से होने वाला इन्फेक्शन है और इसके कारण आपको दूसरी विभिन्न बीमारियाँ भी हो सकती हैं। कुछ स्थितियों में इसका इलाज केवल डॉक्टर को दिखाने भर से और एंटी बायोटिक लेने से भी काम चल जाता है। लेकिन बीमारी के लक्षणों के आधार पर कभी-कभी मरीज को अधिक देखभाल की जरूरत होती है जिसके लिए अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत हो सकती है।

ड्राई स्किन

सर्दी में, विशेषकर कम नमी वाले मौसम में स्किन का ड्राई होना एक आम परेशानी है। सर्दी के मौसम में तेज़ गरम पानी से नहाने से बचना चाहिए जिससे आप स्किन पर होने वाली खुजली से बच सकें। इसके लिए अच्छी तरह से क्रीम या पेट्रोलियम जैली से स्किन को मॉस्चराइज करना चाहिए जिससे आप ड्राई स्किन की परेशानी से बच सकते हैं।

फ्लू

सर्दी के मौसम में फ्लू एक सामान्य रूप से होने वाली बीमारी मानी जाती है। इसके लिए बहुत जरूरी है कि अपने हमेशा खाने से पहले हाथ धो लें जिससे हर प्रकार के किटाणु हमसे दूर रह सकते हैं। इसके साथ ही हमेशा कान ढ़क कर और मोज़ों को पहन कर शरीर को गरम रखने का प्रयास करना चाहिए।

सर्दी में होने वाली बीमारियों से बचाव कैसे करें:

  • शरीर को गरम रखने के लिए थोड़े अधिक गरम कपड़े पहनें

  • स्वच्छता का ध्यान रखें

  • नियमित रूप से स्किन को मॉस्चराइज करें

  • ठंडा पानी पीने से बचें

  • तेज़ गरम पानी के स्नान से बचें

  • पौष्टिक भोजन करें

सर्दी में होने वाली सामान्य बीमारियों के उपचार के लिए एक हेल्थ बीमा पॉलिसी क्यों जरूरी है?

भारत में अनेक प्रकार की प्रतिष्ठित बीमा कंपनियाँ हैं जो सर्दी में होने वाली बीमारियों पर होने वाले खर्च की सुरक्षा प्रदान करती हैं। सर्दी के कारण होने वाली कोई भी ऐसी बीमारी जिसके कारण अस्पताल में भर्ती होना पड़े उससे आपकी वित्तीय योजना का संतुलन बिगड़ सकता है। इसलिए, कैशलेस क्लेम के साथ अन्य विभिन्न लाभ लेने के लिए एक अच्छी हेल्थ बीमा पॉलिसी का सुझाव दिया जाता है। भारत में विभिन्न प्रकार की बीमा पॉलिसी आयुष लाभ भी देती हैं जिससे आप गैर एलोपेथिक इलाज का लाभ भी प्राप्त कर सकें। अपने और अपने परिवार के लिए फ्लोटर लाभ लेने के लिए सर्वोत्तम बीमा पॉलिसी का चयन करें। परिवार के लिए एक अच्छी हेल्थ बीमा पॉलिसी का चयन करने के लिए यहाँ क्लिक करें

हेल्थ बीमा प्लान और इसके लाभों को जानने के लिए यहाँ क्लिक करें


Awards & Recognition